असदुद्दीन ओवैसी ने मारा पीएम मोदी पर तंज कहा- भारत मुस्लिम मुल्कों की सुनता है, अपने देश के मुस्लिमों की नहीं

Indian Muslim:

Indian Muslim: ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहाद-उल मुस्लिमीन के प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी ने पैगंबर मोहम्मद के खिलाफ बीजेपी के दो नेताओं की आपत्तिजनक टिप्पणी को लेकर केंद्र की मोदी सरकार पर निशाना साधा। ओवैसी ने दावा किया कि खाड़ी देशों में यह मामला बड़ा हो गया है, इसलिए देश के प्रधानमंत्री ने मजबूरी में अपनी पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता के खिलाफ कार्रवाई की है।

ओवैसी ने मोदी सरकार पर आरोप लगाया कि जब देश का मुसलमान कार्रवाई के लिए बोल रहा था तब कार्रवाई क्यों नहीं की गई। जब मुस्लिम देशों ने बीजेपी के दोनों नेता के बयानों पर आपत्ति जताई तब ही क्यों इस मामले में कार्रवाई की गई।

बीजेपी प्रवक्ता नूपुर शर्मा और नवीन जिंदल के बयान देश में एक बड़ा मुद्दा बन गया हैं। देश की अलग-अलग पार्टियां बीजेपी पर आरोप लगाते हुए अलग-अलग राय दे रही हैं, वहीं ये मुद्दा सिर्फ भारत का नही रहा, इस मसले को लेकर अंतरराष्ट्रीय स्तर पर भी बड़ा विवाद खड़ा हो गया है, मुस्लिम देश पहले ही इस बयान की आलोचना कर रहे हैं,

अब इस मामले में तालिबान सरकार ने भी भारत को नसीहत दे डाली, तालिबान ने भारत सरकार से कहा है कि वह कट्‌टरपंथियों को इस्लाम का अपमान करने और मुस्लिमों की भावनाओं को भड़काए जाने से रोकें। तालिबानी प्रवक्ता जबीउल्लाह मुजाहिद ने कहा कि भारत की सत्ताधारी पार्टी के एक अधिकारी ने पैगंबर मोहम्मद के बारे में अपमानजनक शब्दों का इस्तेमाल किया है। अफगानिस्तान का इस्लामिक अमीरात सख्त तौर पर इसकी निंदा करता है।

वहीं टीवी पर डिबेट के दौरान भाजपा की पूर्व प्रवक्ता नुपुर शर्मा द्वारा पैगंबर मोहम्मद के खिलाफ कथित अपमानजनक टिप्पणी को लेकर आतंकवादी समूह अलकायदा ने भारत में आत्मघाती हमलों की धमकी दी है। अलकायदा ने 6 जून को जारी अपने आधिकारिक पत्र में धमकी दी है कि वह गुजरात, यूपी, मुंबई और दिल्ली में आत्मघाती हमलें करने को तैयार है।

14 देशों ने की बयान की आलोचना
वहीं नूपुर शर्मा के बयान पर अब तक 14 देशों ने नाराजगी जताई है। इन देशों में ईरान, इराक, कुवैत, कतर, सऊदी अरब, ओमान, संयुक्त अरब अमीरात, जॉर्डन, अफगानिस्तान, पाकिस्तान, बहरीन, मालदीव, लीबिया और इंडोनेशिया शामिल हैं। सऊदी अरब, कुवैत, बहरीन और अन्य अरब देशों ने अपने सुपर स्टोर्स में भारतीय उत्पादों पर प्रतिबंध लगा दिया है।

57 मुस्लिम देशों के इस्लामिक सहयोग संगठन ने भी इसकी निंदा की है। संगठन ने सोशल मीडिया पर पोस्ट करते हुए कहा- अतीत में भारत में मुसलमानों के खिलाफ हिंसा के मामले बढ़े हैं। कई राज्यों में हिजाब पर प्रतिबंध के साथ शिक्षण संस्थानों में मुसलमानों पर प्रतिबंध लगाया जा रहा है।

आप मेरे PM हैं, हमारी तकलीफ नहीं समझते-ओवैसी

महाराष्ट्र के लातूर में एक रैली को संबोधित करते हुए ओवैसी कहा, ‘हम इस बात से नाराज हैं। प्रधानमंत्री ने उन मुसलमानों पर ध्यान नहीं दिया जो इस देश के निवासी हैं। लेकिन जब बाहर के मुस्लिम देशों ने सोशल मीडिया पर अपना गुस्सा जाहिर किया तो तुरंत कार्रवाई की गई।

Must Read :महिला टीचर खुद क्लास में फरमा रही थी आराम… बच्ची से डलवा रही थी हवा, वायरल हुआ वीडियो

सरकार को अगर लगता है कि गलत हुआ है तो इन लोगों को गिरफ्तार करे तब इंसाफ होगा। अगर मैं पीएम मोदी के खिलाफ कुछ असंसदीय भाषा का उपयोग कर लूं तो बीजेपी के लोग अरेस्ट ओवैसी का मुद्दा बना लेते हैं लेकिन हम 10 दिनों से नूपुर शर्मा और नवीन जिंदल कि गिरफ्तारी की मांग कर रहे हैं तो हमारी बात तक नहीं सुनी जा रही है।

Must Read :सपना चौधरी को भी पछाड़ रही है ‘हरियाणा की शकीरा’, खुद देख लें Videos…

वहीं ओवैसी ने कहा कि आप मेरे पीएम हैं, आपको मेरी बात सुननी चाहिए, आप विदेशों के नेताओं को खुश करना चाहते हैं। आप उनकी तकलीफ को समझते हैं, वहीं अगर हमारी बात करे आप हमारी दुर्दशा को नहीं समझते हैं। जब देश के मुसलमानों की बात आती है तो पीएम मोदी उनकी नहीं सुनते।

Must Read :जानें, कितना सही है पीरियड्स में सेक्स …

वहीं, असदुद्दीन ओवैसी ने विपक्षी दलों पर हमला बोलते हुए कहा की पैगंबर मोहम्मद पर आपत्तिजनक टिप्पणी को लेकर पूरे देश के मुसलमानों ने गुस्सा जाहिर किया, लेकिन यह जो नाम भर के धर्मनिरपेक्ष दल है इनके मुंह में दही जम गया था। सिर्फ हम ही मसले पर बोल रहे थे, बाकी के लोग बस तमाशा देख रहें है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Grey Observer