Tomato Prices: नींबू के बाद अब टमाटर का स्वाद भी हुआ खट्टा, दामों ने लगाई सेंचुरी

14:48, 3 June, 2022, Views - 233
Tomato Prices:
SOURCE OF IMAGE: SOCIAL MEDIA

Tomato Prices: देश में मंहगाई को लेकर आम जनता की हालत खसता है, बढ़ती मंहगाई की वजह से आम जनता की जेब पर बहुत बुरा असर पड़ रहा है, कभी तेल के भाव तो कभी घरेलू गैस के भाव, तो कभी सब्जियों के बढ़ते भाव से आम जनता का जीवन बैहाल हो रहा है, आम जनता की रसौई में सबसे ज्यादा प्याज, टमाटर, नींबू इन्ही चीजों का इस्तेमाल ज्यादा किया जाता है. लेकिन लगता ये भी अब भी आम जनता की रसौई से गायब होने वाला है. जनता की थाली अब शायद खाली ही रहने वाली है.

जब तक सब्जी में जीरे का छोंक ना लगे सब्जी का स्वाद भीखा ही रहता है वैसे ही जब तक थाली में टमाटर, प्याज ना हो थाली पूरी नहीं लगती है. लेकिन नीबूं के बाद टमाटर भी आम जनता की थाली से रूखसत होने वाला है, नीबू के भाव के बाद अब टमाटर के भाव भी सातवें आसमान पर पहुंच गये है.

कुछ वक्त में ही टमाटर की रेट डबल, ट्रीपल हो गयी है. टमाटर की असमान को छुती हुए दाम आम आदमी के लिए परेशानी खड़ी रहे है लेकिन बस इसमे किसानों का फायदा हुआ है, टमाटर की रेट बढ़ने से किसानों के चेहरे पर खुशी देखने को मिली है. वहीं देश में टमाटर की रेट अलग-अलग शहर में अलग-अलग है

महाराष्ट्र के भी कई शहरों में 100 के पार
Tomato Prices: देंश में टमाटर का सबसे बड़ा उत्पादक राज्य महाराष्ट है जहां पर टमाटर के रेट 100 के पार चल गए, महाराष्ट्र के कई शहरों में टमाटर के अलग-अलग रेट चल रही है. पुणे समेत राज्य के कई शहरों में टमाटर खुदरा बाजार में 100 रुपये किलो से अधिक बिक रहा है. पुणे, नासिक, नागपुर, अकोला, बारामती शहरों में टमाटर 100 रुपये किलो के स्तर को पार कर गया है.

महाराष्ट्र के प्रमुख शहरों में टमाटर की थोक व खुदरा कीमतें:

थोक     खुदरा

पुणे: 60   80-120
नासिक: 50  80-100
नागपुर: 75   120
अकोला: 80  120
वाशिम: 70  90
नांदेड़: 70   90
बारामती: 55  100
अहमदनगर: 45  60
यवतमाल: 75  90
औरंगाबाद: 40  80

Must Read : …तो बच सकती थी Singer KK की जान, पोस्टमार्टम में हुआ ये बड़ा खुलासा

किसानों के लिए वरदान बना टमाटर का भाव
Tomato Prices: एक तरफ जहां आम जनता टमाटर के रेट बढ़ने से परेशान है तो वहीं दूसरी टमाटर का उत्पादन करने वाले किसानों के चेहरे पर खुशी लोट आई है, ऐसे किसान प्याज की कीमतें टूटने से परेशान हो रहे थे. अब टमाटर की कीमतों ने उनके नुकसान की एक हद तक भरपाई कर दी है. कभी-कभी ऐसा भी होता है जब किसानों को भाव नहीं मिलने की वजह से टमाटर फैंकने भी पड़ते है.

Must Read : Ummmm या Aaaahhh की आवाजों के पीछे का ये है सारा कंसेप्ट…

डिमांड की तुलना में 25% है सप्लाई
Tomato Prices: आखिर टमाटर की रेट इतनी कैसी पहुंची किसान ने बताया की हीट वेव के कारण टमाटर कि उपज कम हुई है. सर्दियों के समय उपज प्रति एकड़ 2000 क्रेट होती है, जो अभी मई महीने में महज 1200 क्रेट रही.

Must Read : राज्यसभा से बेटे ने काटा पत्ता… तो मां ने दिया नंबर-2 का प्रस्ताव, गुलाम नबी ने किया काम करने से इनकार

अभी डिमांड उतनी ही है, लेकिन सप्लाई नहीं है, इस कारण दाम बढ़ रहे हैं. मानसून शुरू हो चुका है और अगले कुछ महीने में हर रोज बाजार में 13000 क्रेट के करीब टमाटर आएंगे. किसान ने बताया कि अभी करीब एक महीने तक टमाटर के दाम में तेजी बनी रहेगी.

 

YOU MIGHT LIKE

Leave a comment

Your email address will not be published.

6 − two =